रूठ न जाये

रूठ न जाये
रूठ न जाये कोई अपनाबढ़ के उसे मना लेनाबिछड़ सके न कोई तुम यूँअपना उसे बना लेना
जीवन में सब कुछ मिल जातासच्ची प्रीत नहीं मिलतीप्रेम करे जो दिल से उसकोअपना मीत बना लेना
भूल से भूल न होने पायेऐसा कोई काम न होमीत बना के दिल का देखोदिल ना फिर  दुखा देना
आँखों की न बातें समझेऐसा वो अनजान नहींफिर भी दिल की बातेंधीरे धीरे तुम बतला देना
जन्नत है जिसके कदमों मेंमाँ ही ऐसी शक्ति हैदेखो भूल से भी न तुमइस जन्नत को ठुकरा देना
अंजू व रत्तीहोशियारपुरपंजाब

By admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *